कोरोना काल में लोगों की मदद कर उनके लिए मसीहा बने ऐक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) अब मुश्किल में फंसते नजर आ रहे हैं। इनकम टैक्स विभाग पिछले तीन दिनों से ऐक्टर के घर सर्वे कर रहा था। सोनू सूद (Sonu Sood IT raid) के अलावा उनके सहयोगियों के परिसरों का भी सर्वे किया गया, जिसमें आईटी विभाग को टैक्स चोरी से जुड़े सबूत मिले हैं।

आईटी विभाग ने कहा है कि सोनू सूद और उनके सहयोगियों ने 20 करोड़ से (Sonu Sood tax evasion of over Rs 20 crores) ज्यादा की टैक्स चोरी की है। ‘आजतक’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आईटी विभाग ने कहा है कि सोनू सूद ने 20 करोड़ से ज्यादा की टैक्स चोरी की है। इसके अलावा उनकी चैरिटी संस्था को 2.1 करोड़ का विदेशी चंदा अवैध रूप से मिला है, जो उन्होंने FCRA कानून का उल्लंघन कर एक क्राउडफंडिंग प्लैटफॉर्म के जरिए इकट्ठा किया।

navbharat-times

आईटी विभाग का कहना है कि सोनू सूद ने फर्जी और असुरक्षित लोन के रूप में बेहिसाब पैसे जमा किए हैं। इतना ही नहीं, सोनू सूद ने साल 2020 में अपना जो एनजीओ शुरू किया था, उसे 1 अप्रैल 2021 से अभी तक 18.94 करोड़ का डोनेशन मिल चुका है। इस डोनेशन में से अभी तक 1.9 करोड़ अलग-अलग कार्यों में खर्च हो चुके हैं, जबकि बची हुई 17 करोड़ की रकम अभी भी अकाउंट में हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि आईटी विभाग ने सोनू सूद से जुड़ी जिन जगहों का सर्वे किया, उनमें मुंबई, लखनऊ, जयपुर, कानपुर, दिल्ली और गुरुग्राम समेत 28 जगहें शामिल हैं। बता दें कि बीते दिनों सोनू सूद दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल से मुलाकात करने पहुंचे थे। उन्हें हाल ही दिल्ली सरकार के एक मेंटॉर प्रोग्राम का ब्रैंड एंबेसडर भी बनाया गया था।